ग्रंथालय विभाग

Book_shelves_UWI_Libraryमहाविद्यालय में एक समृद्ध ग्रंथालय है। वर्तमान में 80000 (अस्सी हजार) से अधिक पुस्तकें स्नातक/स्नातकोत्तर की हैं। ग्रंथालय में विभिन्न में समाचार पत्र, पत्रिकाएं एवं कई षोध, जर्नल्स भी मंगाये जाते है। अनुसूचित जाति / जनजाति के छात्र छात्राओं के लिये नि:शुल्क  पुस्तकें, प्रदान करने की बुक – बैंक योजना कार्यान्वित की जाती है। जिसके अंतर्गत
अनुसूचित जाति / जनजाति के छात्र/छात्राओं को सत्रांत तक छात्रों के बीच एक सेट पुस्तकें नि:शुल्क  प्रदान की जाती हैं।

जिन्हें परीक्षा उपरांत वापस लिया जाता है। सामान्य छात्र / छात्राओं को नियमानुसार ग्रंथालय से पुस्तकें प्रदान की जाती है  ।
1. महाविद्यालय में निर्धारित सुरक्षा निधि / छात्राओं को नियमानुसार ग्रंथालय का सदस्य बन जाती है ।
2. पुस्तकालय में पुस्तकों का निर्गमन तथा वपास लेना ग्रंथालय के नियंत्रण में रहता है । जिसके लिये उनके द्वारा निर्धारित नियमों का पालन आवश्यक  है। नियमोल्लंघन करने पर छात्र दण्डित होंगे ।
3. ग्रंथालय में विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं के पठन की सुविधा है ।
4. ग्रंथालय में महाविद्यालय के समस्त छात्र-छात्राओं को 15 दिनों के लिये दो पुस्तक निर्गमित की जावेगी।
5. ग्रंथालय से ली गई पुस्तक यदि 15 दिनों के बाद न लौटाई गई तो प्रति पुस्तक प्रतिदिन रू. 1.00 के हिसाब से अर्थदण्ड देय होगा । जिसका भुगतान शिक्षण शुल्क की क़िस्त  के साथ अनिवार्य रूप से करना होगा।
खेल, स्तात्कोत्तर विषयों तथा विधि विभाग  के प्रथक प्रथक ग्रंथालय भी है